Home वैकल्पिक विषय श्रम एवं समाज कल्याण अंतर्राष्ट्रीय श्रम दिवस (International Labour Day)

अंतर्राष्ट्रीय श्रम दिवस (International Labour Day)

  • श्रमिक दिवस हर साल 1 मई को मनाया जाता है।
  • यह दिन शिकागो में हेमार्केट संबंध या हैमार्केट हत्याकांड की याद दिलाता है। औद्योगिकीकरण के उदय के दौरान, अमेरिका ने 19 वीं शताब्दी के दौरान श्रमिक वर्ग का शोषण किया और कठोर परिस्थितियों में 15 घंटे तक काम किया जिससे उनका शोषण हुआ। 1 मई 1886 को, हजारों श्रमिक सड़क पर आए और काम के घंटों के खिलाफ संघर्ष किया। 4 मई को, पुलिस ने सार्वजनिक असेंबली को तितर-बितर करने का काम किया जब एक अज्ञात व्यक्ति ने बम फेंका। विस्फोट के कारण कई लोगों और पुलिस अधिकारियों की मृत्यु हो गई और 100 से अधिक लोग घायल हो गए। घटना को हेमार्केट के प्रसंग के रूप में याद किया जाता है।
  • दिन अंतरराष्ट्रीय श्रम संघों को बढ़ावा देता है। श्रमिक संघों और समाजवादियों ने कार्यक्रमों का आयोजन और मजदूरी में सुधार और कार्यबल की कार्य स्थितियों को देखकर दिन मनाया।
  • 1 मई 1923 को भारत में पहली बार International Labour Day मनाया गया। इस दिन के अवलोकन की शुरुआत लेबर किसान पार्टी ऑफ़ हिंदुस्तान ने चेन्नई में की थी।
  • दिन का उद्देश्य श्रमिकों के प्रति सम्मान और अधिकार लाना है।
हमारा टेलीग्राम चैनल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

[सिलेबस] मैकेनिकल इंजीनियरिंग (वैकल्पिक विषय)

बिहार लोक सेवा आयोग मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम - मैकेनिकल इंजीनियरिंग (वैकल्पिक विषय) खण्ड- I (Section - I) स्वैतिकी तीनों विभागों सामयावस्था निलम्बन के बिल कल्पित कार्य के सिद्वांत। गतिकी

[सिलेबस] फारसी भाषा और साहित्य (वैकल्पिक विषय)

बिहार लोक सेवा आयोग मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम - फारसी भाषा और साहित्य (वैकल्पिक विषय) खण्ड- I (Section - I) 1. (अ) फारसी भाषा का उद्भव और विकास (रूप रेखा)(आ) फारसी के व्याकरण, काव्य शास्त्र और पिंगल की प्रमुख...

[सिलेबस] दर्शनशास्त्र (वैकल्पिक विषय)

बिहार लोक सेवा आयोग मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम - दर्शनशास्त्र (वैकल्पिक विषय) खण्ड- I (Section - I) तत्वमीमांसा और ज्ञानमीमांसा उम्मीदवारों से अपेक्षा की जाती है कि उन्हें निम्नलिखित विषयों के विशेष सन्दर्भ में- भारतीय और पाश्चात्य ज्ञानमीमांसा...

संयुक्त राष्ट्र में भारत का स्थायी मिशन (Permanent Mission of India to the United Nations)

स्थायी मिशन, एक राजनयिक मिशन है जिसमें प्रत्‍येक सदस्य संयुक्त राष्ट्र का सहायक होता है।इसका नेतृत्व एक स्थायी प्रतिनिधि करता है, जिसे "संयुक्त राष्ट्र का राजदूत" भी कहा जाता है।प्रतिनिधियों को न्यूयॉर्क शहर में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में अभिहस्‍तांकित किया जाता है और जिनेवा, वियना और नैरोबी...