Home BPSC साक्षात्कार साक्षात्कार प्रश्नोत्तर दुनिया की रक्षा के लिए गिद्ध क्यों जरूरी हैं?

दुनिया की रक्षा के लिए गिद्ध क्यों जरूरी हैं?

भारत सहित पूरी दुनिया में गिद्धों की संख्या तेजी से कम होती जा रही है। वैज्ञानिक और विशेषज्ञ काफी परेशान है। अलर्ट जारी कर दिया गया है। यदि तत्काल गिद्धों का संरक्षण नहीं किया गया तो वह दिन दूर नहीं जब सारी दुनिया कोरोना वायरस जैसे किसी महामारी से पीड़ित होगी और चारों तरफ मौत का तांडव नजर आएगा।

गिद्ध दुनिया को महामारी से बचाते हैं, डॉक्टर से ज्यादा महत्वपूर्ण है

प्राणी विज्ञान के विशेषज्ञ बताते हैं कि पृथ्वी पर पारिस्थितिकीय संतुलन में गिद्ध की महत्वपूर्ण भूमिका है। पूरी पृथ्वी पर केवल गिद्ध ही हैं जो बदबूदार मांस और गंदगी को फटाफट चट कर जाते हैं। यदि बदबूदार माँस को तत्काल नष्ट नहीं किया गया तो उसमें कई तरह के खतरनाक वायरस जन्म ले सकते हैं। इन वायरस के कारण दुनिया में महामारी फैल सकती है। सरल शब्दों में कहें तो गिद्ध वो जीव है जो डॉक्टरों से ज्यादा अच्छा काम करता है। डॉक्टर तो महामारी से पीड़ित लोगों का इलाज मात्र करते हैं परंतु गिद्ध महामानी को पनपने से पहले ही रोक देता है। 

गिद्ध सारी दुनिया की रक्षा कैसे करते हैं, जबकि हर देश का पर्यावरण अलग होता है 

सबसे बड़ा सवाल यह है कि सारी दुनिया की रक्षा कैसे करते हैं जबकि हर देश का पर्यावरण, तापमान और जलवायु अलग-अलग होते हैं। और इसका जवाब यह है कि दुनिया भर में गिद्ध की कुल 22 प्रजातियां पाई जाती हैं। अलग-अलग प्रजाति के गिद्ध अलग-अलग तरह तापमान और जलवायु में पैदा होते हैं और अपने इलाके को महामारी से बचाए रखते हैं। वह रोज गश्त पर निकलते हैं। वह आसमान में उड़ते हुए देखते हैं कि धरती पर कहां कोई शव पड़ा हुआ है, कोई मांस जो सड़ रहा है, जिसमें वायरस पैदा होने वाले हैं। दिखाई देते ही वह तुरंत धरती पर उतरते हैं और फटाफट चट कर जाते हैं। 

हमारा सोशल मीडिया

29,588FansLike
25,786SubscribersSubscribe

Must Read

सितारों से आगे जहां और भी हैं (हिन्दुस्तान)

आज से सौ साल बाद यदि कोई शोध छात्र 21वीं शताब्दी के कोरोनाग्रस्त भारत पर शोध करना चाहेगा, तो उसे अद्भुत आश्चर्य का...

ताकि और गर्व से कहें, हम बिहारी हैं (हिन्दुस्तान)

पिछले दो सप्ताह से अभिनेता मनोज वाजपेयी द्वारा गाया गया एक रैप गीत बम्बई में का बा  दिलो-दिमाग में गूंज रहा है। यू...

बिहार में चुनाव  (हिन्दुस्तान)

बिहार विधानसभा चुनाव की घोषणा के साथ ही हमारा लोकतंत्र एक नए दौर में प्रवेश कर गया। राजनीतिक रूप से बहुत महत्व रखने...

नदियों को बांधने की कीमत (हिन्दुस्तान)

बिहार की बागमती नदी से बाढ़-सुरक्षा दिलाने की बात एक बार फिर चर्चा में है। यह नदी काठमांडू से करीब 16 किलोमीटर उत्तर-पूर्व...

Related News

सितारों से आगे जहां और भी हैं (हिन्दुस्तान)

आज से सौ साल बाद यदि कोई शोध छात्र 21वीं शताब्दी के कोरोनाग्रस्त भारत पर शोध करना चाहेगा, तो उसे अद्भुत आश्चर्य का...

ताकि और गर्व से कहें, हम बिहारी हैं (हिन्दुस्तान)

पिछले दो सप्ताह से अभिनेता मनोज वाजपेयी द्वारा गाया गया एक रैप गीत बम्बई में का बा  दिलो-दिमाग में गूंज रहा है। यू...

बिहार में चुनाव  (हिन्दुस्तान)

बिहार विधानसभा चुनाव की घोषणा के साथ ही हमारा लोकतंत्र एक नए दौर में प्रवेश कर गया। राजनीतिक रूप से बहुत महत्व रखने...

नदियों को बांधने की कीमत (हिन्दुस्तान)

बिहार की बागमती नदी से बाढ़-सुरक्षा दिलाने की बात एक बार फिर चर्चा में है। यह नदी काठमांडू से करीब 16 किलोमीटर उत्तर-पूर्व...

फिर आंदोलित किसान (हिन्दुस्तान)

संसद से पारित कृषि विधेयकों के खिलाफ आंदोलित पंजाब के किसानों के निशाने पर कल से ही रेल सेवाएं आ गई हैं, इसके...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here