Home BPSC साक्षात्कार साक्षात्कार प्रश्नोत्तर बिजली के मोटे तार में बहुत सारे पतले तारों का गुच्छा क्यों...

बिजली के मोटे तार में बहुत सारे पतले तारों का गुच्छा क्यों होता है?

इलेक्ट्रिक ज्ञानी बिजली के तारों को तो आपने देखा ही होगा। जब ज्यादा मात्रा में करंट को ट्रांसपोर्ट करना होता है तो बिजली का मोटा तार लगाया जाता है लेकिन यह मोटा तार बहुत सारे पतले पतले तारों से मिलकर बनता है। प्रश्न यह है कि जिस तरह मोटे और पतले सरिया बनाए जाते हैं, उसी प्रकार एक मोटा तार उपयोग क्यों नहीं किया जाता। बहुत सारे तारों का समूह क्यों बनाया जाता है। 

हमारे घर में जो बिजली पहुंचती है वो एसी करेंट के रूप में होती है और इसमें स्किन इफेक्ट होता है। स्किन इफेक्ट मतलब एसी करंट किसी तार की स्किन या बहरी सतह में सबसे ज़्यादा प्रभावी होती है।

जैसे जैसे तार के अंदर की ओर या केंद्र की ओर बढ़ेंगे वैसे-वैसे इसका प्रभाव कम होता चला जाता है। ज़्यादा मोटा तार लगा भी दिया तो उसके भीतर कोई करंट तो बहेगा ही नहीं, केवल इसके बहरी सतह में करंट बहेगी। इसी कारण, स्किन इफ़ेक्ट को रोकने के लिए बिजली का तार एक मोटा तार न होकर पतले-पतले तारों का गुच्छा होता है।

इसमें जितने ज़्यादा तार होंगे, हर तार की बहरी सतह पर करंट फ्लो होगी, और हमने तो काफी सारे तार एक साथ जोड़े हुए हैं। चित्र के अनुसार आप समझ सकते हैं कि, अगर हर तार की केवल बहरी सतह पर भी करंट बहती है तो कुल-मिलाकर करंट एक सामान रूप से पूरे तार (सभी पतले तारों को मिलाकर बना) में फ्लो हो पायेगी।

हमारा सोशल मीडिया

29,751FansLike
25,786SubscribersSubscribe

Must Read

कैसी हो पुलिस, समाज तय करे (हिन्दुस्तान)

टेलीविजन रेटिंग प्वॉइंट्स (टीआरपी) घोटाले की आंच अब उत्तर प्रदेश तक पहुंच गई है। राज्य सरकार की सिफारिश पर हजरतगंज (लखनऊ) पुलिस स्टेशन...

हास्यास्पद कार्रवाई (हिन्दुस्तान)

यह घटना जितनी दर्दनाक है, उसके बाद के घटनाक्रम उतने ही हास्यास्पद हैं। असम के लमडिंग रिजर्व फॉरेस्ट में 27 सितंबर को मालगाड़ी...

मदद और सम्मान मांगती ईमानदारी  (हिन्दुस्तान)

ऋण चुकाने में ईमानदारी को प्रोत्साहन देने की ऐतिहासिक शुरुआत होने जा रही है। केंद्र सरकार ने संकेत दिया है कि कोविड-19 के...

विसंगतियों का चुनाव (हिन्दुस्तान)

विधानसभा चुनाव राज्यों के सिर्फ राजनीतिक रुझान का पता नहीं देते, वे उनके सामाजिक-सांस्कृतिक ताने-बाने, नागरिकों की राजनीतिक जागरूकता और आर्थिक हालात से...

Related News

कैसी हो पुलिस, समाज तय करे (हिन्दुस्तान)

टेलीविजन रेटिंग प्वॉइंट्स (टीआरपी) घोटाले की आंच अब उत्तर प्रदेश तक पहुंच गई है। राज्य सरकार की सिफारिश पर हजरतगंज (लखनऊ) पुलिस स्टेशन...

हास्यास्पद कार्रवाई (हिन्दुस्तान)

यह घटना जितनी दर्दनाक है, उसके बाद के घटनाक्रम उतने ही हास्यास्पद हैं। असम के लमडिंग रिजर्व फॉरेस्ट में 27 सितंबर को मालगाड़ी...

मदद और सम्मान मांगती ईमानदारी  (हिन्दुस्तान)

ऋण चुकाने में ईमानदारी को प्रोत्साहन देने की ऐतिहासिक शुरुआत होने जा रही है। केंद्र सरकार ने संकेत दिया है कि कोविड-19 के...

विसंगतियों का चुनाव (हिन्दुस्तान)

विधानसभा चुनाव राज्यों के सिर्फ राजनीतिक रुझान का पता नहीं देते, वे उनके सामाजिक-सांस्कृतिक ताने-बाने, नागरिकों की राजनीतिक जागरूकता और आर्थिक हालात से...

बिहार समाचार (संध्या): 20 अक्टूबर 2020 AIR (Bihar News + Bihar Samachar + Bihar Current Affairs)

घर बैठे BPSC परीक्षा की तैयारी: https://definitebpsc.com/ Industrial Dispute in Hindi: https://www.youtube.com/watch?v=y3W56i3zkds हमारा Telegram चैनल - https://t.me/DefiniteBPSC हमारा फेसबुक पेज लाइक करिये -...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here