Home BPSC साक्षात्कार साक्षात्कार प्रश्नोत्तर यदि पेट्रोल को इंडक्शन कुकर पर उबाला जाए तो क्या होगा?

यदि पेट्रोल को इंडक्शन कुकर पर उबाला जाए तो क्या होगा?

यह तो हम सब जानते हैं कि पेट्रोल एक अत्यंत ज्वलनशील तरल पदार्थ है। उसे यदि छोटी सी चिंगारी भी मिल जाए तो आग लग जाती है। यदि आप उसे चूल्हे पर या एलपीजी गैस पर दूध की तरह उबालने की कोशिश करेंगे तो बर्तन के नीचे जल रही आग की चिंगारी बर्तन के अंदर उबल रहे पेट्रोल की भाप तक पहुंच जाएगी और बहुत तेज आग जल उठेगी लेकिन यहां प्रश्न यह है कि यदि पेट्रोल को इंडक्शन कुकर पर दूध की तरह उबला जाए तब क्या होगा।

सबसे पहले तकनीकी भाषा में समझाइए 

सबसे पहले हमें किसी भी चीज में आग पकड़ने की तकनीक के बारे में समझना होगा। यह 2 प्रकार से होता है 

फ़्लैश पॉइंट (Flash Point)

एक वाष्पशील पदार्थ का फ्लैश पॉइंट वह न्यूनतम तापमान होता है जिस पर उसकी वाष्प आग पकड़ लेती हैं। (यानी कोई तरल पदार्थ जब एक न्यूनतम तापमान पर पहुंच जाता है तो उसमें से निकलने वाली भाप आसपास में मौजूद किसी भी अग्नि स्त्रोत से आग पकड़ लेती है।)

ऑटो-इग्निशन तापमान (Auto Ignition Temperature) 

किसी पदार्थ का आटोइग्निशन तापमान वह न्यूनतम तापमान होता है, जिस पर वह सामान्य वातावरण में बिना किसी बाहरी स्रोत, जैसे कि लौ या चिंगारी से सहजता से जल उठता है। (यानी कोई तरल पदार्थ जब एक निर्धारित तापमान पर गर्म हो जाता है तो फिर उसे किसी बाहरी स्त्रोत की जरूरत नहीं होती बल्कि वह अपने आप जल उठता है।)
एक बार फिर ध्यान से पढ़िए, फ़्लैश पॉइंट में बाहरी चिंगारी की आवश्यकता पड़ती है और ऑटो इग्निशन तापमान में बाहरी चिंगारी नहीं चाहिए होती।

अब पेट्रोल की बात करते हैं

पेट्रोल का फ़्लैश पॉइंट है(-43℃) इसका मतलब पेट्रोल की वाष्प -43℃ तापमान पर भी चिंगारी देने पर जल उठेगी। पेट्रोल का ऑटो इग्निशन तापमान है (280 ℃) इसका मतलब हुआ अगर पेट्रोल को 280℃ तक उबाला जाता है, बिना चिंगारी लगाए, वह जल उठेगा लेकिन बड़ा सवाल यह है कि क्या पेट्रोल को इस तरह उबाल आ जा सकता है कि वह 280 डिग्री सेंटीग्रेड तक गर्म हो सके। व्यवहारिक रूप से अगर आप पेट्रोल को किसी बर्तन में रखकर उबालना शुरू करेंगे, तो 280℃ पँहुचने से पहले ही वाष्प में बदल जाएगा। इस प्रकार आग नहीं लगेगी। 

सरल शब्दों में समझिए, और ध्यान दीजिए

यदि आप पेट्रोल को किसी बर्तन के अंदर रखकर इंडक्शन कुकर पर उबालते हैं और आसपास किसी भी प्रकार का अग्नि स्त्रोत मौजूद है तो निश्चित रूप से भाप आग पकड़ लेगा लेकिन यदि कोई अग्नि स्त्रोत नहीं है तो पेट्रोल भाप बनकर उड़ जाएगा। इसका परीक्षण विशेषज्ञों की कड़ी निगरानी में सुरक्षा को ध्यान में रखकर किया गया है। कृपया इसे किसी भी स्थिति में दौर आने की कोशिश ना करें। अन्यथा एक बड़ा ब्लास्ट हो सकता है जो काफी नुकसानदायक हो सकता है।

हमारा सोशल मीडिया

29,751FansLike
25,786SubscribersSubscribe

Must Read

कैसी हो पुलिस, समाज तय करे (हिन्दुस्तान)

टेलीविजन रेटिंग प्वॉइंट्स (टीआरपी) घोटाले की आंच अब उत्तर प्रदेश तक पहुंच गई है। राज्य सरकार की सिफारिश पर हजरतगंज (लखनऊ) पुलिस स्टेशन...

हास्यास्पद कार्रवाई (हिन्दुस्तान)

यह घटना जितनी दर्दनाक है, उसके बाद के घटनाक्रम उतने ही हास्यास्पद हैं। असम के लमडिंग रिजर्व फॉरेस्ट में 27 सितंबर को मालगाड़ी...

मदद और सम्मान मांगती ईमानदारी  (हिन्दुस्तान)

ऋण चुकाने में ईमानदारी को प्रोत्साहन देने की ऐतिहासिक शुरुआत होने जा रही है। केंद्र सरकार ने संकेत दिया है कि कोविड-19 के...

Related News

कैसी हो पुलिस, समाज तय करे (हिन्दुस्तान)

टेलीविजन रेटिंग प्वॉइंट्स (टीआरपी) घोटाले की आंच अब उत्तर प्रदेश तक पहुंच गई है। राज्य सरकार की सिफारिश पर हजरतगंज (लखनऊ) पुलिस स्टेशन...

हास्यास्पद कार्रवाई (हिन्दुस्तान)

यह घटना जितनी दर्दनाक है, उसके बाद के घटनाक्रम उतने ही हास्यास्पद हैं। असम के लमडिंग रिजर्व फॉरेस्ट में 27 सितंबर को मालगाड़ी...

मदद और सम्मान मांगती ईमानदारी  (हिन्दुस्तान)

ऋण चुकाने में ईमानदारी को प्रोत्साहन देने की ऐतिहासिक शुरुआत होने जा रही है। केंद्र सरकार ने संकेत दिया है कि कोविड-19 के...

विसंगतियों का चुनाव (हिन्दुस्तान)

विधानसभा चुनाव राज्यों के सिर्फ राजनीतिक रुझान का पता नहीं देते, वे उनके सामाजिक-सांस्कृतिक ताने-बाने, नागरिकों की राजनीतिक जागरूकता और आर्थिक हालात से...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here