पालकालीन बिहार

  • आठवीं सदी के मध्य पूर्वी भारत में पाल वंश का अभ्युदय हुआ.
  • इस वंश का संस्थापक गोपाल था.जिसने अपनी विस्तारवादी नीति के तहत बिहार के क्षेत्रों पर अधिकार कर लिया.
  • पाल वंश शासक धर्मपाल (770-810 ई.) ने कन्नौज पर आक्रमण किया और ‘उत्तरापथ स्वामीन’ की उपाधि धारण की.
  • धर्मपाल के पुत्र देवपाल (810-850 ई.) ने दक्षिण- पूर्व एशिया के साथ मैत्री संबंध कायम किया.
  • देवपाल बौद्ध धर्म का आश्रयदाता था. उसने जावा के शासक बलपुत्रदेव के अनुरोध पर नालंदा में एक विहार बनाने की अनुमति दी. इसके लिए देवपाल ने 5 गांव अनुदान में दिए थे.
  • मिहिरभोज एवं महेंद्रपाल के समय प्रतिहारों ने बिहार के अधिकांश क्षेत्रों पर अधिकार कर लिया.
  • महिपाल के अधीन पाल वंश का पुनः उदय 11 वीं सदी में हुआ और उसने बंगाल सहित समस्त मगध पर अधिकार कर लिया.
  • महिपाल के उत्तराधिकारियों की कमजोरी का लाभ उठाते हुए बंगाल के सेन शासकों ने उत्तरी बिहार एवं बंगाल के कुछ हिस्सों पर अधिकार कर लिया. इस प्रकार पाल शासक मगध के कुछ हिस्सों में सिमट कर रह गए.
  • जब पाल शासक रामपाल की मृत्यु हो गई तब कन्नौज के गहड़वालों घरवालों ने गया और शाहाबाद तक तथा सेन शासकों ने गया के पूर्वी भागों तक कब्ज़ा कर लिया. ऐसी स्थिति में ही बिहार पर 12वीं सदी के अंत में तुर्कों के आक्रमण शुरू हो गए.
  • पाल शासक बौद्ध धर्मावलंबी थे.
  • धर्मपाल ने विक्रमशिला विश्वविद्यालय की स्थापना की तथा नालंदा विश्वविद्यालय को 200 गाँव दान में दिए.
  • ओदंतपूरी एवं जगदल विश्वविद्यालय की स्थापना भी पाल शासकों ने किया था.
  • बौद्ध विद्वान शान्तरक्क्षित एवं अतीश दीपंकर इसी समय तिब्बत गये थे.
  • पाल शासकों ने मूर्ति कला के क्षेत्र में विशेष रुचि दिखलाई.
  • ब्राह्मण धर्म के देवी देवताओं एवं बौद्ध धर्म से संबंधित मूर्तियों का निर्माण चमकीले काले पत्थर पर इस काल में हुआ,परन्तु सांचे ढली कांस्य मूर्तियों की बहुलता इस वंश की मूर्तिकला के क्षेत्र की एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है.

हमारा सोशल मीडिया

29,131FansLike
25,786SubscribersSubscribe

Must Read

खोजने होंगे समृद्धि के नए रास्ते (हिन्दुस्तान)

वह साल 1918 था। महात्मा गांधी को दक्षिण अफ्रीका से भारत लौटे तीन वर्ष हो चले थे। अहमदाबाद में बापू को लगा कि...

स्वतंत्रता का सफर (हिन्दुस्तान)

स्वतंत्र भारत ने विकसित राष्ट्र होने की ओर एक लंबा सफर तय कर लिया है, और अभी आगे का लंबा सफर हमें जल्दी...

बिहार समाचार (संध्या): 14 अगस्त 2020 AIR (Bihar News + Bihar Samachar + Bihar Current Affairs)

घर बैठे BPSC परीक्षा की तैयारी: https://definitebpsc.com/ Industrial Dispute in Hindi: https://www.youtube.com/watch?v=y3W56i3zkds हमारा Telegram चैनल - https://t.me/DefiniteBPSC हमारा फेसबुक पेज लाइक करिये -...

जगे राष्ट्र में पूरे हो रहे काम (हिन्दुस्तान)

अयोध्या में श्रीराम जन्मस्थान पर मंदिर निर्माण के शुभारंभ को समूचे भारत और विश्व भर में फैले भारतीय मूल के लोगों और भारत...

Related News

खोजने होंगे समृद्धि के नए रास्ते (हिन्दुस्तान)

वह साल 1918 था। महात्मा गांधी को दक्षिण अफ्रीका से भारत लौटे तीन वर्ष हो चले थे। अहमदाबाद में बापू को लगा कि...

स्वतंत्रता का सफर (हिन्दुस्तान)

स्वतंत्र भारत ने विकसित राष्ट्र होने की ओर एक लंबा सफर तय कर लिया है, और अभी आगे का लंबा सफर हमें जल्दी...

बिहार समाचार (संध्या): 14 अगस्त 2020 AIR (Bihar News + Bihar Samachar + Bihar Current Affairs)

घर बैठे BPSC परीक्षा की तैयारी: https://definitebpsc.com/ Industrial Dispute in Hindi: https://www.youtube.com/watch?v=y3W56i3zkds हमारा Telegram चैनल - https://t.me/DefiniteBPSC हमारा फेसबुक पेज लाइक करिये -...

जगे राष्ट्र में पूरे हो रहे काम (हिन्दुस्तान)

अयोध्या में श्रीराम जन्मस्थान पर मंदिर निर्माण के शुभारंभ को समूचे भारत और विश्व भर में फैले भारतीय मूल के लोगों और भारत...

जरूरी कर सुधार (हिन्दुस्तान)

कर सुधार की ओर भारत ने जो कदम उठाए हैं, वे जरूरी व स्वागतयोग्य हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत में कराधान व्यवस्था...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here