Student Login

Login

Forgot Password?

हमारे बारे में

इस Website को बनाने का मुख्य उद्धेश्य है, BPSC संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा [ Combined Comptition Examination] के बारे Basic से Advance लेवल तक की ज्यादा से ज्यादा जानकारी को, हमारी आम बोलचाल की भाषा में लोगो तक पहुचाना, ताकि वे लोग जो BPSC परीक्षा का तैयारी करना चाहते तो है, लेकिन सही जानकारी और स्टडी मटेरियल में कठिनाई की वजह से रुक जाते है, वे लोग BPSC परीक्षा के बारे में सीखे और इसका लाभ उठा सके.

BPSC परीक्षा के बारे में आप आसान भाषा में सब सिख सके, इस Blog और website के माध्यम से यही हमारी कोशिश है.

बिहार लोक सेवा आयोग (BPSC) एक आधिकारिक संस्था है, जो बिहार राज्य के अंतर्गत अपनी सेवायें देने वाले विभिन्न प्रशासनिक पदों ( सिविल सेवाओं में ) भर्ती हेतु परीक्षाऐं आयोजित करवाता है। इस आयोग की स्थापना भारत सरकार अधिनियम, 1935 के सेक्शन 261, सब सेक्शन- (1) के अनुसार 1 अप्रैल 1949 को की गई थी। 1 मार्च 1951 को यह रांची से पटना स्थानांतरित कर दिया गया था। तब से लेकर अब तक यह आयोग पटना से प्रभावी रूप से राज्य को अपनी सेवाऐं दे रहा है। भारतीय संविधान (अनुच्छेद 315 से लेकर 323 तक ) संघ एवं राज्यों को लोक सेवा आयोग के गठन को मंजूरी प्रदान करता है। अतः यह आयोग एक संवैधानिक संस्था है। जिसे बिहार लोक सेवा आयोग ( सेवाओं की शर्तें) नियमन, 1960 द्वारा नियंत्रित एवं संचालित किया जाता है।

बिहार राज्य के अंतर्गत विभिन्न प्रशासनिक पदों जैसे डिप्टी कलेक्टर, सहायक पुलिस अधिकारी (DSP), ब्लाक विकास अधिकारी (BDO), क्षेत्रीय यातायात अधिकारी (RTO), सहायक कमिश्नर, जेल सुप्रीटेन्डेंट, जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी, जिला खाद्य वितरण अधिकारी आदि अन्य अनेक पदों पर नियुक्तियां संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा [ Combined Comptition Examination] के माध्यम से की जातीं हैं। इस परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए अभ्यर्थी का किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से कम से कम स्नातक उत्तीर्ण होना अनिवार्य होता है।

धन्यवाद.