Home BPSC सिविल सेवा नोट्स भारत का सामान्य परिचय

भारत का सामान्य परिचय

भारत विश्व की प्राचीनतम और महान सभ्यताओं में से एक बेजोड़ संस्कृति वाला देश है. यह एशिया महाद्वीप में स्थित है लेकिन अपनी विशिष्टता तथा विशाल क्षेत्र के कारण उपमहाद्वीप के रूप में जाना जाता है. यह उत्तरी गोलार्द्ध में अवस्थित है.

भारत उत्तर में बर्फ से ढके हिमालय से लेकर दक्षिण में धुप से सराबोर तटवर्ती गाँवों और दक्षिण पश्चिम तट पर आर्द्र उष्णकटिबंधीय जंगलों, पूर्व में ब्रह्मपुत्र घाटी के उपजाऊ क्षेत्र से लेकर पश्चिम में थार रेगिस्तान तक फैला है.

इसका अक्षांसीय विस्तार 8 डिग्री 4 मिनट (8°4′) उत्तर अक्षांस से लेकर 37 डिग्री 6 मिनट (37°6′) उत्तरी अक्षांश और देशांतरीय विस्तार 68 डिग्री 7 मिनट (68°7′) पूर्वी देशांतर से 97 डिग्री 25 मिनट (97°25′) पूर्वी देशांतर तक है. कर्क रेखा पूरे देश को दो बराबर भागों में विभाजित करती है.

उत्तर से दक्षिण तक इसका अक्षांशीय विस्तार करीब 3214 किलोमीटर और पूर्व से पश्चिम तक देशांतरीय विस्तार करीब 2933 किलोमीटर है. इसकी स्थलीय सीमा लगभग 15,200 किलोमीटर है. मुख्य भूमि लक्षद्वीप समूह और अंडमान निकोबार द्वीप समूह सहित तट रेखा की कुल लंबाई 7516 किलोमीटर है.

भारत का क्षेत्रफल बत्तीस लाख सतासी हज़ार दो सौ तिरेसठ वर्ग किलोमीटर (32,87,263 km²) है. 2011 के जनगणना के अनुसार इसकी जनसंख्या एक सौ इक्कीस दशमलव जीरो नौ करोड़ (121.09 करोड़) है. इसके साथ जहाँ आकार की दृष्टि से भारत विश्व में सातवें स्थान पर है वहीं जनसंख्या के आधार पर पूरे विश्व में दूसरे स्थान पर है.

पर्वतमाला और समुद्र इसे शेष एशिया से पृथक करते हुए एक विशिष्ट भौगोलिक पहचान प्रदान करते हैं. यह उत्तर में विशाल हिमालय से घिरा है और दक्षिण की और विस्तार के साथ कर्क रेखा पर शंकु आकार धारण किए पूर्व में बंगाल की खाड़ी और पश्चिम में अरब सागर के बीच हिंद महासागर में फैला है.

कर्क रेखा (23½⁰ की अक्षांसीय रेखा) भारत को दो बराबर भागों में विभाजित करते है. यदि किसी त्रिभुज के संदर्भ में कर्क रेखा को आधार तथा सियाचिन और कन्याकुमारी को शीर्ष माना जाये तो भारत की आकृति के लिए दो त्रिभुज बनाये जा सकते है.

भारत का सबसे उत्तरी बिंदु ‘इंदिरा कॉल’ तथा दक्षिणतम बिंदु अंडमान निकोबार दीप समूह में ‘इंदिरा पॉइंट’ या ‘पिग मिलेनियम पॉइंट’ है. हालाँकि मुख्य भूमि का दक्षिणतम बिंदु ‘कन्याकुमारी’ (तमिलनाडु) है. भारत की पूर्वी सीमा का सबसे आख़िरी बिंदु ‘किबिथू’ तथा सबसे पश्चिमी बिंदु ‘गुहर मोती’ को माना जाता है.

भारत की भौगोलिक विशिष्टता इसकी प्राकृतिक सीमाओं से भी पता चलता है. इसकी अधिकांस सीमाएं प्राकृतिक है. उत्तर में हिमालय पर्वत श्रेणी, दक्षिण पश्चिम में अरब सागर, दक्षिण पूर्व में बंगाल की खाड़ी, दक्षिण में हिंद महासागर इसकी प्राकृतिक सीमाएं बनाते है.

मुल्क के लिहाज से भारत के उत्तर-पश्चिम में पाकिस्तान तथा अफगानिस्तान है. इसके उत्तर पूर्व में म्यामांर तथा पूर्व में बांग्लादेश है. उत्तरी सीमा की बात करें तो जम्मू कश्मीर से लेकर अरुणाचल प्रदेश तक अधिकांश सीमा चीन के साथ तथा शेष नेपाल, भूटान के साथ लगी है. पाक जलडमरू मध्य और मन्नार की खाड़ी से निर्मित एक तंग समुद्री चैनल श्रीलंका को भारत से अलग करता है.

भारत की स्थलीय सीमा पर पाकिस्तान, अफगानिस्तान, चीन, नेपाल, भूटान, म्यांमार और बांग्लादेश अवस्थित है. इनकी भारत से लगे अंतर्राष्ट्रीय सीमा की लम्बाई निम्नलिखित है.

  • बांग्लादेश: 4096 km
  • चीन: 3917 km
  • पाकिस्तान: 3310 km
  • नेपाल: 1752 km
  • म्यांमार: 1458 km
  • भूटान: 587 km
  • अफगानिस्तान: 80 km

भारत को मुख्य रूप से छः अंचलों में वर्गीकृत जा सकता है: उत्तरी, दक्षिणी, पूर्वी, पश्चिमी, मध्यवर्ती और पूर्वोत्तर. यहाँ 28 राज्य और 9 केन्द्रशासित प्रदेश है.

राज्य तथा राजधानी: आंध्र प्रदेश- हैदराबाद, बिहार-पटना, गोआ-पणजी, गुजरात-गांधीनगर, हरियाणा-चंडीगढ़, हिमाचल प्रदेश-शिमला, कर्नाटक-बेंगलुरू, केरल-तिरुवनंतपुरम, महाराष्ट्र-मुम्बई, मध्य प्रदेश-भोपाल, ओडिशा-भुवनेश्वर, पंजाब-चंडीगढ़, राजस्थान-जयपुर, सिक्किम-गंगटोक, तमिलनाडू-चेन्नई ,उत्तर प्रदेश-लखनऊ, पश्चिम बंगाल-कोलकाता, असम-दिसपुर, अरुणाचल प्रदेश-ईटानगर, मणिपुर-इम्फाल, मेघालय-शिलांग, मिज़ोरम-आइजोल, नागालैंड-कोहिमा, त्रिपुरा-अगरतला, छत्तीसगढ़-रायपुर, झारखंड-रांची, उत्तराखंड-देहरादून, तेलंगाना-हैदराबाद.

केन्द्रशासित प्रदेश तथा राजधानी: दिल्ली राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र-नई दिल्ली, दादरा और नगर हवेली-सिल्वासा, लक्षद्वीप-कवारत्ती, दमन और दीव-दमन, अंडमान एवं निकोबार-पोर्ट ब्लैयर, पुदुचेरी-पांडिचेरी, चंडीगढ़-चंडीगढ़, जम्मू- जम्मू, कश्मीर- श्रीनगर

भारत का मानक समय: भारत की मुख्य भूमि के पश्चिमी तथा पूर्वी किनारों के मध्य की स्थानीय समय में लगभग 2 घंटे का अंतर पाया जाता है. समय के अंतर की इस समस्या से निजात पाने के लिए देश के बीचो-बीच गुजरने वाली देशांतरीय रेखा को प्रधान रेखा मानकर उसके अनुसार पुरे देश में मानक समय को लागू कर दिया गया.
इस तरह साढ़े बेरासी अंश (82⁰30′) की देशांतर रेखा को भारत का मानक याम्योत्तर मान लिया गया. यह इलाहाबाद के नैनी से होकर गुजरती ह तथा यहां के समय को समस्त भारत में प्रमाणिक समय (इंडियन स्टैंडर्ड टाइम) माना गया. यह अंतरराष्ट्रीय ग्रीनविच समय से 5 घंटे 30 मिनट आगे हैं.

स्मरणीय तथ्य

भारत का क्षेत्रफल32,87,263 km²
अक्षांशीय विस्तार8°4′ N से 37°6′ N
देशांतरीय विस्तार68°7′ E से 97°25′ E
उत्तर दक्षिण लंबाई3214 किलोमीटर
पूर्व पश्चिम लंबाई2933 किलोमीटर
स्थलीय सीमा15200 किलोमीटर
सागरीय सीमा6100 किलोमीटर
कुल तटीय सीमा7516.6 किलोमीटर
अंतिम बिंदुउत्तरी बिंदु: ‘इंदिरा कॉल’
दक्षिणतम बिंदु: ‘इंदिरा पॉइंट’
पूर्वी बिंदु: ‘किबिथू’
पश्चिमी बिंदु ‘गुहर मोती’
प्रधान याम्योत्तर82⁰30′

हमारा सोशल मीडिया

29,556FansLike
25,786SubscribersSubscribe

Must Read

ड्रैगन के सामने निडर ताइवान (हिन्दुस्तान)

वैसे तो अपनी हर भौगोलिक सीमा पर चीन का आक्रामक रुख बना हुआ है, लेकिन ताइवान के खिलाफ उसके तेवर खासतौर से गरम...

अप्रिय समापन (हिन्दुस्तान)

एक असाधारण स्थिति में मानसून सत्र के लिए बैठी संसद से देश की अपेक्षाएं भी असाधारण थीं। लेकिन भीषण महामारी, डांवांडोल अर्थव्यवस्था और...

बिहार समाचार (संध्या): 23 सितम्बर 2020 AIR (Bihar News + Bihar Samachar + Bihar Current Affairs)

घर बैठे BPSC परीक्षा की तैयारी: https://definitebpsc.com/ Industrial Dispute in Hindi: https://www.youtube.com/watch?v=y3W56i3zkds हमारा Telegram चैनल - https://t.me/DefiniteBPSC हमारा फेसबुक पेज लाइक करिये -...

असली चिंता छोटे किसानों की (हिन्दुस्तान)

संसद ने खेती-किसानी से जुड़े तीन अहम विधेयक पारित किए हैं। इनमें पहला विधेयक है, ‘कृषक उपज व्यापार और वाणिज्य (संवद्र्धन व सरलीकरण)...

Related News

ड्रैगन के सामने निडर ताइवान (हिन्दुस्तान)

वैसे तो अपनी हर भौगोलिक सीमा पर चीन का आक्रामक रुख बना हुआ है, लेकिन ताइवान के खिलाफ उसके तेवर खासतौर से गरम...

अप्रिय समापन (हिन्दुस्तान)

एक असाधारण स्थिति में मानसून सत्र के लिए बैठी संसद से देश की अपेक्षाएं भी असाधारण थीं। लेकिन भीषण महामारी, डांवांडोल अर्थव्यवस्था और...

बिहार समाचार (संध्या): 23 सितम्बर 2020 AIR (Bihar News + Bihar Samachar + Bihar Current Affairs)

घर बैठे BPSC परीक्षा की तैयारी: https://definitebpsc.com/ Industrial Dispute in Hindi: https://www.youtube.com/watch?v=y3W56i3zkds हमारा Telegram चैनल - https://t.me/DefiniteBPSC हमारा फेसबुक पेज लाइक करिये -...

असली चिंता छोटे किसानों की (हिन्दुस्तान)

संसद ने खेती-किसानी से जुड़े तीन अहम विधेयक पारित किए हैं। इनमें पहला विधेयक है, ‘कृषक उपज व्यापार और वाणिज्य (संवद्र्धन व सरलीकरण)...

अप्रिय राजनीति  (हिन्दुस्तान)

राज्यसभा में रविवार को उपजा गतिरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है। जिन आठ सांसदों को राज्यसभा से सप्ताह भर के लिए...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here