रविवार, फ़रवरी 25, 2024
होमBPSC न्यूज़BPSC अखबारों मेंबीपीएससी पेपर लीक मामले में अब तक बीडीओ सहित 16 गिरफ्तार; बिहार ईओयू कुर्की की तैयारी में

बीपीएससी पेपर लीक मामले में अब तक बीडीओ सहित 16 गिरफ्तार; बिहार ईओयू कुर्की की तैयारी में

बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) की 67वीं प्रारंभिक परीक्षा के पेपर लीक मामले की जांच कर रही आर्थिक अपराध इकाई (ईओयू) अब फरार वारंटियों के विरुद्ध कुर्की जब्ती की तैयारी कर रही है। अभी तक इस मामले में पेपर लीक करने वाले प्राचार्य शक्ति कुमार समेत 16 लोगों को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है। ईओयू अधिकारियों के अनुसार, बीपीएससी पेपर लीक के साल्वर गैंग के सरगना आनंद गौरव उर्फ पिंटू यादव उसके सहयोगी सरोज और केशव झा को पुलिस लंबे समय से तलाश कर रही है। इनके विरुद्ध वारंट जारी कर छापेमारी भी की गई, मगर अब तक इनकी गिरफ्तारी नहीं हो सकी है।

ऐसे में फरार चल रहे आरोप‍ितों के विरुद्ध इश्तेहार जारी कर ठिकानों पर चस्पा किया गया है। इसके बाद कुर्की जब्ती की कार्रवाई की जाएगी। पिंटू यादव मुंगेर तो सरोज मधुबनी का रहने वाला है। वहीं गया के डेल्हा स्थित रामशरण सिंह कालेज के प्राचार्य शक्ति कुमार से वाट्सएप पर बीपीएससी का प्रश्न-पत्र पाने वाले प्रयागराज के क्लर्क कपिलेदव को भी पुलिस तलाश कर रही है। उसके विरुद्ध वारंट जारी कर तलाश जारी है।

वह मूल रूप से गया का रहने वाला बताया जाता है। फिलहाल वह प्रयागराज के सीडीए कार्यालय में क्लर्क के पद पर काम कर रहा था। पेपर लीक में उसका नाम सामने आने के बाद से ही पुलिस उसकी तलाश कर रही है। इसमें उत्तर प्रदेश की पुलिस का भी सहयोग लिया जा रहा है। अधिकारियों के अनुसार, अगर जल्द ही कपिलेदव नहीं मिला तो उसके विरुद्ध भी इश्तेहार जारी कर कुर्की जब्ती की कार्रवाई की जाएगी।

पेपर लीक में अब तक 16 गिरफ्तार

बीपीएससी पेपर लीक मामले में गया के डेल्हा कालेज के प्राचार्य शक्ति कुमार समेत 16 लोग पकड़े जा चुके हैं। दिल्ली से साल्वर अभिषेक त्रिपाठी, महेश पूर्वे और प्रवीण कुमार को ईओयू ने गिरफ्तार किया था। इसके पहले एनआइटी छात्र संजय कुमार, राजस्व पदाधिकारी राहुल कुमार, बड़हरा बीडीओ जयवर्धन गुप्ता, कुंवर सिंह कालेज के प्राचार्य डा. योगेंद्र प्रसाद सिंह, कालेज प्रोफेसर सुनील कुमार सिंह, सहायक केंद्राधीक्षक अगम कुमार सहाय, कृषि विभाग के सहायक राजेश कुमार, निशिकांत कुमार राय, कृष्ण मोहन सिंह, सुधीर कुमार सिंह और अमित कुमार सिंह को गिरफ्तार हुए थे। वहीं तूफानी नाम के आरोपित ने सरेंडर किया था। आर्थिक अपराध इकाई की टीम ने सभी पर धोखाधड़ी, जालसाजी, पद का दुरुपयोग, आइटी एक्ट तथा बिहार परीक्षा नियंत्रण अधिनियम 1981 की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है।

Source link

सम्बंधित लेख →

लोकप्रिय

hi_INहिन्दी