रविवार, फ़रवरी 25, 2024
होमबिहार के अखबारों मेंबिहार में इस साल पांच लाख मिट्टी नमूनों की होगी जांच

बिहार में इस साल पांच लाख मिट्टी नमूनों की होगी जांच

स्वस्थ्य मिट्टी का महत्व समझते हुए बिहार सरकार ने मिट्टी जांच की यह पहल शुरू कर दी है. जिसके तहत प्रदेश के प्रत्येक जिले स्थित प्रत्येक ब्लॉक से पांच-पांच गांवों का चयन किया गया है. इन गांवों से मिट्टी के नमूने एकत्रित किए जाएंगे.

रबी सीजन की समापन के साथ ही खरीफ सीजन की तैयारियां भी शुरू हो गई है. जिसको लेकर किसानों व सरकारों की तरफ से अपने-अपने स्तर पर तैयारियां की जा रही हैं. इसी कड़ी में बिहार सरकार (Bihar Government) ने भी एक पहल शुरू की हुई है. असल में बिहार सरकार ने स्वस्थ्य मिट्टी का महत्व समझते हुए इस साल प्रदेशभर में मिट्टी की जांच (Soil Testing) कराने का फैसला लिया है. बिहार के कृषि व किसान कल्याण विभाग (Agriculture and farmer welfare Department) की यह कवायद प्रदेशभर में शुरू भी हो गई है. जिसके तहत बिहार सरकार का कृषि व किसान कल्याण विभाग इस साल प्रदेशभर से पांच लाख मिट्टी के नमूनों को एकत्रित करेगा. जिनकी जांच करने के बाद रिपोर्ट तैयार की जाएगी. बाद में यह रिपोर्ट किसानों को मृदा स्वास्थ्य कार्ड के रूप दी जाएगी.

बिहार के कृषि व किसान कल्याण विभाग ने प्रदेशभर में मिट्टी के नमूनों की जांच करने की कवायद शुरू कर दी है. जिसके लिए एक निर्धारित कार्यक्रम के अनुरूप काम किया जा रहा है. असल में कृषि विभाग ने मिट्टी के नमूनों की जांच के लिए एक योजना बनाई है. जिसके तहत नमूने एकत्रित करने के लिए अधिकारी प्रदेश के सभी जिलों के प्रत्येक ब्लॉक से 5-5 गांवों का चयन करेंगे. इन चयनित गांवों में मिट्टी का नमूना लेने के लिए एक हेक्टेयर का एक ग्रिड बनाया जाएगा. इस ग्रिड में जिस भी किसान के जमीन आएगी, उसके नमूने एकत्रित किए जाएंगे. जिनकी जांच के बाद संबंधित किसानों को मृदा स्वास्थ्य कार्ड दिया जाएगा.

बिहार सरकार के कृषि व किसान कल्याण विभाग की तरफ से मिट्टी नमूनों की जांच के लिए कवायद शुरू हो गई है. इसके तहत प्रत्येक जिले का कार्यक्रम निर्धारित किया गया है. मिट्टी के नमूनों को एकत्रित करने की इस प्रक्रिया में कृषि समन्यवयक, किसान सलाहकार, एटीएम और बीटीएम की तैनाती भी की जाएगी. वहीं गांवों के किसानों की मौजूदगी भी सुनिश्चित की जा हरी है. इसके साथ ही कृषि विभाग किसानों को मिट्टी को स्वस्थ्य रखने के उपायों की जानकारी भी देगा. जिसके तहत विभाग की तरफ से खेत में खादों के संतुलित प्रयोगों की जानकारी दी जाएगी. इस संबंध में बिहार के कृषि व किसान विभाग ने किसानों से अपील करते हुए मिट्टी जांच प्रक्रिया में बढ़-चढ़ कर भाग लेने की अपील की है. साथ ही विभाग ने इस संबंध में अधिक जानकारी के लिए जिला मिट्टी जांच प्रयोगशाला में संपर्क करने को कहा है.

Source link

सम्बंधित लेख →

लोकप्रिय

hi_INहिन्दी