रविवार, फ़रवरी 25, 2024
होमबिहार के अखबारों मेंये हैं बिहार के 5 प्रसिद्ध टूरिस्ट प्लेस, बेहद प्राचीन और गौरवशाली है इनका इतिहास

ये हैं बिहार के 5 प्रसिद्ध टूरिस्ट प्लेस, बेहद प्राचीन और गौरवशाली है इनका इतिहास

बिहार में कई पर्यटक स्थल है जिन्हें देखने के लिए देश-विदेश से पर्यटक आते हैं. यह सूबा प्राचीन काल में मगध के नाम से जाना जाता था और इसकी राजधानी पटना को पाटलिपुत्र कहा जाता था. बिहार का प्राचीन इतिहास बेहद गौरवशाली है और यहां मौर्य, गुप्त और मुगल शासकों ने राज किया. माना जाता है कि बिहार शब्द की उत्पत्ति बौद्ध विहारों के विहार शब्द से हुई, जिसका अर्थ है बौद्ध संन्यासियों के ठहरने का स्थान. बिहार नेपाल, पश्चिम बंगाल, यूपी और झारखण्ड से घिरा हुआ है. यह सूबा भारत के इतिहास में ऐतिहासिक, साहित्यिक और धार्मिक सभी स्‍तरों पर महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है.

इस सूबे में तीन अलग-अलग क्षेत्र मगध, मिथिला और भोजपुर शामिल हैं. प्राचीन काल में बिहार विशाल साम्राज्यों, शिक्षा केंद्रों और संस्कृति का गढ़ रहा.

गया (Gaya )

बोधगया बिहार के सबसे प्राचीन स्थलों में से एक है. यह बौद्धों का प्रसिद्ध तीर्थ स्थल है. माना जाता है कि यहां स्थित पेड़ के नीचे गौतम बुद्ध को ज्ञान की प्राप्ति हुई थी. यह शहर फल्गु नदी के तट पर स्थित है और यहां कई मंदिरों और ऐतिहासिक स्थलों से भरा हुआ है. गया में आप बोधगया, महाबोधि मंदिर, विष्णुपद मंदिर, मगला गौरी तीर्थ, डुंगेश्वरी गुफा मंदिर, बराबर गुफाएं, बोधि वृक्ष, चीनी मंदिर और मठ, संग्रहालय और मुचलिंडा झील इत्यादि घूम सकते हैं.

नालंदा (Nalanda)

नालंदा भारत का सबसे पुराना विश्वविद्यालय है. प्राचीन काल में यह शिक्षा का केंद्र हुआ करता था. इसकी ख्याति से प्रभावित होकर प्रसिद्ध चीनी यात्री ह्वेन त्सांग ने यहां का दौरा किया था और यहां की महिला का वर्णन किया था. आप बिहार जा रहे हैं तो नालंदा विश्वविद्यालय जरूर देखें.

पटना (Patna)

पटना बिहार की राजधानी है. यह बिहार का सबसे बड़ा शहर है. यह जगह सिखों के अंतिम गुरु, गुरु गोविंद सिंह की जन्मस्थली माना जाता है. इसी वजह से सिख श्रद्धालुओं के लिए यह पवित्र तीर्थस्थल है. पटना में कुम्हरार, आगम, कुआं, दीदारगंज यक्षी, तख्त श्री पटना साहिब, गुरुद्वारा पहिला बड़ा, गुरुद्वारा गोबिंद घाट, गुरुद्वारा गुरु का बाग, गुरुद्वारा बाल लीला, पटना संग्रहालय और किला हाउस घूम सकते हैं.

शेर शाह सूरी टॉम्ब सासाराम (Sher Shah Suri Tomb Sasaram)

शेर शाह सूरी टॉम्ब बिहार के सासाराम में है. इस मकबरे को देखने के लिए दूर-दूर से पर्यटक आते हैं. इस मकबरे का निर्माण 1540 और 1545 के बीच पूरा हुआ था. जिसकी वास्तुकला इंडो-इस्लामिक शैली की है और यह लाल पत्थर से बना हुआ है. यहां आप इस मकबरे को देख सकते हैं.

मधुबनी

आप बिहार में मधुबनी घूम सकते हैं. मधुबनी मिथिला संस्कृति का अंग है. यह शहर मधुबनी पेंटिंग के लिए पूरे विश्‍व में जाना जाता है. काफी संख्या में टूरिस्ट यहां घूमने के लिए आते हैं. यहां आप सौराठ, जयनगर, कपिलेश्वरनाथ, झंझरपुर, भवानीपुर और फुल्लाहर घूम सकते हैं.

Source link

सम्बंधित लेख →

लोकप्रिय

hi_INहिन्दी