रविवार, फ़रवरी 25, 2024
होमBPSC न्यूज़BPSC अखबारों मेंखुशखबरी! अब BPSC में अभ्यर्थ‍ियों को तीन की जगह पांच मौके म‍िलेंगे

खुशखबरी! अब BPSC में अभ्यर्थ‍ियों को तीन की जगह पांच मौके म‍िलेंगे

बिहार सरकार की कैबिनेट में बीपीएससी छात्र, इजीनियरिंग कॉलेज और सिंगल यूज प्लास्टिक को लेकर रखी गई मांगों पर स्वीकृति मिली है. बीपीएससी के जरिए नौकर‍ी की तैयार‍ी कर रहे जनरल कैटेगरी के अभ्यर्थ‍ियों को अब तक तीन ही मौके मिलते थे. अब बीपीएससी में अभ्यर्थियों को तीन के बदले पांच मौके मिलेंगे. बिहार कैबिनेट ने इस पर फैसला लिया है.

बता दें कि बिहार लोक सेवा आयोग (BPSC) ने बीपीएससी 68वीं संयुक्त प्रतियोगिता प्रारंभिक परीक्षा (BPSC 68th Prelims Exam) का नोटिफिकेशन काफी पहले जारी कर दिया था. जारी किए गए नोटिफिकेशन में आवेदन, योग्यता, आयु सीमा, परीक्षा पैटर्न और खाली पदों का विवरण समेत जरूरी जानकारी दी गई है. इच्छुक और योग्य उम्मीदवार आयोग (बीपीएससी) की आधिकारिक वेबसाइट bpsc.bih.nic.in पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं.

20 दिसंबर आवेदन करने की आखिरी तारीख

बीपीएससी 68वीं कंबाइंड कॉम्पिटेटिव प्रीलिम्स एग्जाम (BPSC 68th CCE Pre Exam) के ऑनलाइन आवेदन 25 नवंबर 2022 से शुरू हुए थे. योग्य उम्मीदवार 20 दिसंबर 2022 तक आवेदन कर सकेंगे. एप्लीकेशन करेक्शन की लास्ट डेट 30 दिसंबर 2022 है.

सिंगल यूज प्लास्टिक के इस्तेमाल पर लगेगा जुर्माना

मुख्य सचिवालय में सीएम नीतीश कुमार की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक में कई ऐजेंडों पर मुहर लगी. जिसमें पटना की स्पोर्ट्स अथॉरिटी के सही संचालन के लिए बायलॉज के प्रारूप एवं प्रस्ताव पर स्वीकृति दी गई है. वहीं कैबिनेट ने बिहार नगरपालिका प्लास्टिक अपशिष्ट प्रबंधन संशोधन मॉडल उपविधि 2022 की स्वीकृति दे दी है. बैठक में सिंगल यूज प्लास्टिक के उपयोग पर जुर्माना लगाने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई है. घरेलू उपयोगकर्ता को 100 रुपये तो इसकी बिक्री पर 1500 का जुर्माना लगेगा. दूसरी बार और तीसरी बार पकड़े जाने पर जुर्माना राशि बढ़ती जाएगी. शहरी क्षेत्रों में यह नियम लागू होगा.

सिंगल यूज प्लास्टिक ये हो रहा भारी नुकसान

दरअसल, थर्मोकोल और सिंगल यूज प्लास्टिक से बने उत्पाद पर्यावरण के लिए  नुकसानदेह हैं. मनुष्य के जीवन और प्रकृति पर भी ये बुरा प्रभाव डाल रहे हैं. विशेषज्ञों के मुताबिक थर्मोकोल और सिंगल यूज प्लास्टिक के लंबे समय तक इस्तेमाल से कैंसर हो सकता है. इसलिए इनके इस्तेमाल को जल्द से जल्द बंद करना बहुत जरूरी है.

बैठक में इंजीनियरिंग कॉलेज की पढ़ाई पर किया गौर
बैठक में भागलपुर स्थिति इंजीनियरिंग कॉलेज में कंप्यूटर साइंस और इंजीनियरिंग की पढ़ाई पर चर्चा हुआ. जिसमें पांच पोस्ट बढ़ाने के लिए स्वीकृति दी गई है. इसके साथ ही गया और दरभंगा स्थित इंजीनियरिंग कॉलेज में कंप्यूटर साइंस और इंजीनियरिंग की पढ़ाई के लिए दो-दो पदों के सृजन को स्वीकृति नीतीश कैबिनेट ने दी है. दरभंगा स्थित इंजीनियरिंग कॉलेज में फायर टेक्नोलॉजी और सेफ्टी पाठ्यक्रम के लिए 12 अतिरिक्त शैक्षणिक पदों एवं बख्तियारपुर इंजीनियरिंग कॉलेज में इसी पाठ्यक्रम के लिए 6 अतिरिक्त शैक्षणिक पदों यानी कुल 18 शैक्षणिक पदों को बढ़ाने की स्वीकृति सरकार ने दी है.

Source link

सम्बंधित लेख →

लोकप्रिय

hi_INहिन्दी