Home BPSC प्रारंभिक परीक्षा बिहार सामान्य ज्ञान बिहार सरकार के केबिनेट मंत्री (Cabinet Ministers of Bihar Government)

बिहार सरकार के केबिनेट मंत्री (Cabinet Ministers of Bihar Government)

मंत्री का नामसंविभाग
श्री नीतीश कुमारमुख्यमंत्री, सामान्य प्रशासन, गृह मंत्रालय, कैबिनेट सचिवालय, सतर्कता, चुनाव, सूचना और जनसंपर्क, कार्मिक विभाग
सुशील कुमार मोदीउपमुख्यमंत्री, वित्त, वाणिज्य, वन एवं पर्यावरण और आई.टी.
विजेंद्र प्रसाद यादवऊर्जा, उत्पाद व मद्य निषेध
बृज किशोर बिंदपिछड़ा एवं अतिपिछड़ा विभाग
दिनेशचंद्र यादवलघु सिंचाई, आपदा प्रबंधन
जय कुमार सिंहउद्योग व विज्ञान प्रावैधिकी
कपिल देव कामतपंचायती राज
खुर्शीद आलमअल्पसंख्यक कल्याण व गन्ना उद्योग
कृष्ण कुमार ऋषिकला संस्कृति
कृष्ण नंदन वर्माशिक्षा
मदन सहनीखाद्य एवं उप्भोक्ता
महेश्वर हजारीभवन निर्माण
मंगल पांडेयस्वास्थ्य
श्रीमती कुमारी मंजू वर्मासमाज कल्याण
नंदकिशोर यादवपथ निर्माण  (Road Construction)
पशुपति कुमार पारसपशु एवं मत्स्य पालन
प्रमोद कुमारपर्यटन
डॉ. प्रेम कुमारकृषि
राजीव रंजन (ललन सिंह)जल संसाधन, योजना विकास
राम नारायण मंडलराजस्व व भूमि सुधार
रमेश ऋषिदेवअनुसूचित जनजाति
राणा रणधीर सिंहसहकारिता
संतोष निरालापरिवहन
शैलेश कुमारग्रामीण कार्य विभाग
श्रवण कुमारग्रामीण विकास, संसदीय मामलों
सुरेश शर्माशहरी विकास और आवास
विजय कुमार सिन्हाश्रम संसाधन
विनोद कुमार सिंहखान और भूतत्व
विनोद नारायण झासार्वजनिक स्वास्थ्य और इंजीनियरिंग

हमारा सोशल मीडिया

29,621FansLike
25,786SubscribersSubscribe

Must Read

एक बड़े फैसले के अनेक पहलू  (हिन्दुस्तान)

फैसला नया है, लेकिन कई जरूरी पुरानी यादें ताजा हो गई हैं।16वीं सदी में मुगल बादशाह बाबर के दौर में बनी बाबरी मस्जिद...

अदालती निर्णय के बाद  (हिन्दुस्तान)

var w=window;if(w.performance||w.mozPerformance||w.msPerformance||w.webkitPerformance){var d=document;AKSB=w.AKSB||{},AKSB.q=AKSB.q||,AKSB.mark=AKSB.mark||function(e,_){AKSB.q.push()},AKSB.measure=AKSB.measure||function(e,_,t){AKSB.q.push()},AKSB.done=AKSB.done||function(e){AKSB.q.push()},AKSB.mark("firstbyte",(new...

आभासी लेकिन कामयाब अदालतें (हिन्दुस्तान)

वर्चुअल कोर्ट, यानी आभासी अदालतों को स्थाई रूप देने के प्रस्ताव पर मिश्रित प्रतिक्रिया आई है। कुछ लोग इसमें असीम संभावनाएं देख रहे...

अहम उप-चुनाव (हिन्दुस्तान)

आम तौर पर किसी उप-चुनाव को लेकर संबंधित निर्वाचन क्षेत्र के बाहर बहुत दिलचस्पी नहीं होती, क्योंकि उसका राजनीतिक प्रभाव भी सीमित होता...

Related News

एक बड़े फैसले के अनेक पहलू  (हिन्दुस्तान)

फैसला नया है, लेकिन कई जरूरी पुरानी यादें ताजा हो गई हैं।16वीं सदी में मुगल बादशाह बाबर के दौर में बनी बाबरी मस्जिद...

अदालती निर्णय के बाद  (हिन्दुस्तान)

var w=window;if(w.performance||w.mozPerformance||w.msPerformance||w.webkitPerformance){var d=document;AKSB=w.AKSB||{},AKSB.q=AKSB.q||,AKSB.mark=AKSB.mark||function(e,_){AKSB.q.push()},AKSB.measure=AKSB.measure||function(e,_,t){AKSB.q.push()},AKSB.done=AKSB.done||function(e){AKSB.q.push()},AKSB.mark("firstbyte",(new...

आभासी लेकिन कामयाब अदालतें (हिन्दुस्तान)

वर्चुअल कोर्ट, यानी आभासी अदालतों को स्थाई रूप देने के प्रस्ताव पर मिश्रित प्रतिक्रिया आई है। कुछ लोग इसमें असीम संभावनाएं देख रहे...

अहम उप-चुनाव (हिन्दुस्तान)

आम तौर पर किसी उप-चुनाव को लेकर संबंधित निर्वाचन क्षेत्र के बाहर बहुत दिलचस्पी नहीं होती, क्योंकि उसका राजनीतिक प्रभाव भी सीमित होता...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here