Home BPSC मुख्य परीक्षा GS पेपर 2 - भारतीय भूगोल

GS पेपर 2 - भारतीय भूगोल

बिहार में बाढ़ की समस्या (Flood problem in Bihar)

बिहार भारत के प्रमुख आपदा ग्रस्त क्षेत्रों में से एक है। इस प्रदेश में गंगा मैदान से सटे मैदानी भागों में प्रतिवर्ष बाढ़ आती है। गंगा के मैदान में स्थित बिहार एक बाढ़ प्रभावित राज्य है। जिसके 37 में से 24 जिले और कुल...

बिहार से मानसून का लौटना (Returning of Monsoon from Bihar)

बिहार राज्य के मध्यवर्ती भाग में वर्षा 120 से 150 सेंटीमीटर तक होती है। गंगा के दोनों और पूर्व से पश्चिम की ओर वर्षा की मात्रा घटती जाती है। मध्य सितंबर तक सूर्य की किरणें लंब रूप से विश्वत रेखा के निकट पड़ने लगती हैं परिणाम स्वरूप...

बिहार पर पूर्व मानसूनी वर्षा का आगमन (Arrival of Pre-monsoon rains in Bihar)

बिहार में वर्षा ऋतु मध्य जून से अक्टूबर तक पाई जाती है। बिहार में मई तक ग्रीष्म ऋतु ऊंचे तापमान वाली और वर्षा रहित होती है। तापमान अपनी चरम सीमा तक पहुंच जाता है। इस समय गंगा के डेल्टा तथा उत्तरी पूर्वी क्षेत्र...

बिहार की जलवायु (Climate of Bihar)

बिहार प्रदेश के भौगोलिक अध्ययन में जलवायु एक महत्वपूर्ण कारक है यह बिहार की प्राकृतिक वनस्पति जीव जंतु मिट्टी इत्यादि को प्रभावित करती है। भारत के पूर्वी भाग में स्थित बिहार की जलवायु उष्ण आद्र् मानसूनी है। बिहार पश्चिम बंगाल की उष्ण आर्द्र और...

बिहार में वर्षा का वितरण (Distribution of Rainfall in Bihar)

पूरे बिहार राज्य में वर्षा एक सामान वितरित नहीं होती है। यहां 100 सेंटीमीटर से 200 सेंटीमीटर तक वर्षा होती है। सबसे अधिक वर्षा राज्य के उत्तरी पूर्वी भाग जैसे किशनगंज तथा उत्तरी पश्चिमी भाग जैसे कि पश्चिमी चंपारण में होती है। तीन भागों...

उत्तर और दक्षिण बिहार में बाढ़ की स्थिति ( Flood situation in North and South Bihar)

उत्तर बिहार में बाढ़ की स्थिति:दरभंगा सहरसा वैशाली कटिहार और भागलपुर ऐसे जिले हैं जहां 100000 से 300000 हेक्टेयर भू भाग बाढ़ प्रभावित है। पश्चिमी चंपारण, पूर्वी चंपारण, समस्तीपुर, अररिया और बेगूसराय जिलों में से 50000 से 100000 हेक्टेयर भूमि बाढ़ से प्रभावित रहती है। सीतामढ़ी, मधुबनी,...

पश्चिम की ओर प्रवाहित होने वाली भारतीय नदियाँ

पश्चिम की ओर प्रवाहित होने वाली प्रायद्वीपीय भारत की नदियां, पूर्व में प्रवाहित नदियों की अपेक्षा छोटी है तथा यह रिफ्ट घाटी से होकर प्रवाहित होती है. जिसका प्रमुख कारण हिमालय निर्माण के समय उतरी प्रायद्वीपीय भाग झुक जाना है. पश्चिम की ओर प्रवाहित मुख्य नदियां नर्मदा,...

लोकप्रिय

पश्चिम की ओर प्रवाहित होने वाली भारतीय नदियाँ

पश्चिम की ओर प्रवाहित होने वाली प्रायद्वीपीय भारत की नदियां, पूर्व में प्रवाहित नदियों की अपेक्षा छोटी है तथा यह रिफ्ट घाटी से होकर प्रवाहित होती है. जिसका प्रमुख कारण हिमालय निर्माण के समय उतरी प्रायद्वीपीय भाग झुक जाना है. पश्चिम की ओर प्रवाहित मुख्य नदियां नर्मदा,...

बिहार की जलवायु (Climate of Bihar)

बिहार प्रदेश के भौगोलिक अध्ययन में जलवायु एक महत्वपूर्ण कारक है यह बिहार की प्राकृतिक वनस्पति जीव जंतु मिट्टी इत्यादि को प्रभावित करती है। भारत के पूर्वी भाग में स्थित बिहार की जलवायु उष्ण आद्र् मानसूनी है। बिहार पश्चिम बंगाल की उष्ण आर्द्र और...

उत्तर और दक्षिण बिहार में बाढ़ की स्थिति ( Flood situation in North and South Bihar)

उत्तर बिहार में बाढ़ की स्थिति:दरभंगा सहरसा वैशाली कटिहार और भागलपुर ऐसे जिले हैं जहां 100000 से 300000 हेक्टेयर भू भाग बाढ़ प्रभावित है। पश्चिमी चंपारण, पूर्वी चंपारण, समस्तीपुर, अररिया और बेगूसराय जिलों में से 50000 से 100000 हेक्टेयर भूमि बाढ़ से प्रभावित रहती है। सीतामढ़ी, मधुबनी,...

बिहार में बाढ़ की समस्या (Flood problem in Bihar)

बिहार भारत के प्रमुख आपदा ग्रस्त क्षेत्रों में से एक है। इस प्रदेश में गंगा मैदान से सटे मैदानी भागों में प्रतिवर्ष बाढ़ आती है। गंगा के मैदान में स्थित बिहार एक बाढ़ प्रभावित राज्य है। जिसके 37 में से 24 जिले और कुल...