Home बिहार के अखबारों में शिक्षा उप-निदेशक विभा कुमारी करोड़ों की मालकीन, दिल्ली से मुजफ्फरपुर तक में सात प्लाट

शिक्षा उप-निदेशक विभा कुमारी करोड़ों की मालकीन, दिल्ली से मुजफ्फरपुर तक में सात प्लाट

0
शिक्षा उप-निदेशक विभा कुमारी करोड़ों की मालकीन, दिल्ली से मुजफ्फरपुर तक में सात प्लाट

शिक्षा विभाग में उच्च शिक्षा की उप-निदेशक विभा कुमारी करोड़ों रुपये की मालकिन हैं। आर्थिक अपराध इकाई (ईओयू) ने शनिवार को आय से अधिक संपत्ति मामले में विभा कुमारी के पटना, दानापुर और वैशाली स्थित तीन ठिकानों पर छापेमारी की। इस दौरान स्वयं, पति एवं बेटे के नाम पर दिल्ली डीडीए और मुजफ्फरपुर में तीन-तीन प्लाट जबकि वैशाली के धर्मपुर स्थित ससुराल में विशाल आवासीय भू-खंड के दस्तावेज मिले हैं। इस दौरान आधा दर्जन बैंकों में 41 खाते मिले जिसमें बचत व फिक्स डिपोजिट के रूप में करीब 50 लाख जमा पाया गया। पति के नाम पर शेयर, म्युचअल फंड व अन्य बीमा कंपनियों में भी बड़ी राशि जमा करने की जानकारी मिली है। छापेमारी में एक लाख 39 हजार रुपये नकद भी बरामद हुआ है।

  • 1.88 करोड़ से अधिक की मिली अवैध संपत्ति
  • 41 बैंक खातों में जमा मिली काली कमाई
  • 50 लाख रुपये मिले बचत व फिक्स डिपोजिट खातों में
  • 03-03 प्लाट दिल्ली व मुजफ्फरपुर में, एक वैशाली में
  • 01 फ्लैट दानापुर में सगुना मोड़ के पास
  • 1.39 लाख रुपये नकद मिले छापेमारी में

अवैध संपत्ति अर्जित करने की शिकायत मिली थी

ईओयू के अनुसार, विभा कुमारी के विरुद्ध सरकारी पद का भ्रष्ट दुरुपयोग कर अवैध संपत्ति अर्जित करने की शिकायत मिली थी। सत्यापन में मामला सही पाए जाने पर ईओयू थाने में प्राथमिकी दर्ज कर जांच शुरू की गई। ईओयू की अलग-अलग टीमों ने दानापुर में सगुना मोड़ के नजदीक वसीकुंज काम्प्लेक्स के ब्लाक-ए के फ्लैट नंबर-301, वैशाली के धर्मपुर गांव स्थित विभा कुमारी के आवास और पटना के न्यू सचिवालय, विकास भवन में उप निदेशक के सरकारी कार्यालय कक्ष में तलाशी ली। अब तक की जांच में आय से करीब 52 प्रतिशत अधिक संपत्ति मिली है, जो करीब एक करोड़ 88 लाख 23 हजार 900 रुपये है।

पति के ट्रैवल एजेंसी के माध्यम से मनी लांड्रिंग

ईओयू की जांच में पता चला कि विभा कुमारी के पति अशोक कुमार शर्मा लंबे समय तक पत्नी पर ही आश्रित रहे। विभा ने अवैध रूप से अर्जित धन को सफेद करने के लिए पति के नाम पर लग्जरी कैब नाम से ट्रैवल एजेंसी शुरू किया है। इसमें पति के नाम पर इनोवा, स्कार्पियो, मारुति स्विफ्ट डिजायर की खरीद की गई जिसे किराये पर चलाया जा रहा था। इसका संचालन सगुना मोड़ के वसीकुंज अपार्टमेंट से किया जा रहा था। ट्रैवल एजेंसी के मुंशी अखिलेश कुमार शर्मा के नाम सभी स्कार्पियो वाहन खरीदा गया है, जिसका पता वंसीकुंज अपार्टमेंट ही है।

डेढ़ बीघा में बन रहा भव्य मकान, खोदवाया जा रहा तालाब

ईओयू के अनुसार, उप-निदेशक विभा कुमारी ने वैशाली के धर्मपुर गांव स्थित ससुराल में पति के हिस्से मिली पैतृक संपत्ति और बेटे के नाम से खरीदे गए भूखंड में भव्य मकान का निर्माण शुरू किया था जो बनकर लगभग तैयार हो चुका है। करीब डेढ़ बीघे में चाहरदीवारी कराकर आलीशान मकान, गोशाला, मछली पालन के लिए शेड वाला तालाब बनाया जा रहा है, जिसकी कीमत करोड़ों में आंकी गई है।

राज्य के बाहर भी बनाई संपत्ति, होगा सत्यापन

ईओयू के अनुसार, विभा कुमारी के पास भारतीय स्टेट बैंक के 18 खातों में 18 लाख 80 हजार 750 रुपये, आइसीआइसीआइ बैंक के 14 बचत एवं फिक्स डिपोजिट खातों में 11 लाख रुपये और उत्कर्ष स्माल फाइनांस बैंक के चार बचत खातों एवं फिक्स डिपोजिट में 20 लाख रुपये मिले हैं। इसके अलावा सेंट्रल बैंक में दो खाते और इंडियन बैंक, पटना के केनरा बैंक व दिल्ली के केनरा बैंक में एक-एक खाते हैं। विभा कुमारी ने गैर कानूनी तरीके से राज्य के बाहर भी कई स्थानों पर संपत्ति अर्जित की है, जिसकी विस्तृत जानकारी जुटाकर सत्यापन कराया जा रहा है। तलाशी में मिले दस्तावेजों का सत्यापन हो रहा है, जिसमें आय से अधिक संपत्ति में वृद्धि का अनुमान है।

1993 से सरकारी सेवा में, लगते रहे हैं आरोप

ईओयू के अनुसार, विभा कुमारी ने बिहार राज्य लोक सेवा आयोग की 37वीं प्रतियोगिता पास कर मार्च, 1993 में शिक्षा सेवा में योगदान दिया था। सेवा काल की शुरुआत से ही इनका आचरण एवं कार्य संदिग्ध और विवादस्पद रहा है। कई तरह के आरोप भी लगते रहे हैं।

Source link

viagra kullananlar