Homeवैकल्पिक विषयMaithili मैथिली भाषा और साहित्य (वैकल्पिक विषय)

[सिलेबस] मैथिली भाषा और साहित्य (वैकल्पिक विषय)

बिहार लोक सेवा आयोग मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम – मैथिली भाषा और साहित्य (वैकल्पिक विषय)

खण्ड- I (Section – I)
भाग- 01. मैथिली भाषाक इतिहासः-
(1) मैथिली भाषाक उद्गम।
(2) भारोपीय भाषा परिवार में मैथिलीक स्थान।
(3) मैथिली भाषाक ऐतिहासिक विकासक्रम।
(4) हिन्दी, बंगला, भोजपुरी, मगही एवम् संथाली भाषाक संग मैथिलीक सम्बन्ध।
(5) मैथिलीक विभिन्न बोली।
(6) मानक मैथिलीक भाषाक विशेषता।

भाग- 02. मैथिली साहित्यक इतिहासः-
(1) मैथिली साहित्यक काल विभाजन एवम् विभिन्न कालक प्रवृत्तिगत विशेषता।
(2) आधुनिक मैथिली कविताक विकास।
(3) आधुनिक मैथिली उपन्यासक विकास।
(4) आधुनिक मैथिली नाटकक विकास।
(5) आधुनिक मैथिली लघु कथाक विकास।
(6) आधुनिक मैथिली निबन्ध एवम् आलोचनाक विकास।

खण्ड- II (Section – II)
एहि-पत्र में निर्धारित पाठ्य पुस्तक सभक मुख्य रूप से अध्ययन अपेक्षित होएत आओर एहेन-प्रश्न सभ पूछल जाएत जाहिसॅ परीक्षार्थिक समीक्षा- क्षमताक परीक्षा ‘‘भ’’ सक्एं

(1) विद्यापति- विद्यापति गीतावली- मैथिली अकादमी, पटना- पद संख्या- 01 से 50 धरि।
(2) गोविन्ददास- गोविन्द भजनावली- मैथिली अकादमी, पटना- पद संख्या- 01 से 50 धरि।
(3) मनबोध- कृष्णजन्म।
(4) चन्दा झा- मिथिला भाषा रामायण- सुन्दर काण्ड मात्र।
(5) यात्री- चित्रा।
(6) आर॰सी॰ प्रसाद सिंह- सूर्यमुखी।
(7) मुंशी रघुनन्दन दास- मिथिला नाटक।
(8) प्रो॰ हरिमोहन झा- कन्यादानओ द्विरागमन।
(9) प्रो॰ रामनाथ झा- प्रबन्ध संग्रह।
(10) राजकमल- ललका पाग।

हमारा टेलीग्राम चैनल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय