Home BPSC न्यूज़ BPSC अखबारों में बीपीएससी 67वीं प्रीलिम्स : दिल्ली में परीक्षा केंद्र बनाने की उठ रही मांग

बीपीएससी 67वीं प्रीलिम्स : दिल्ली में परीक्षा केंद्र बनाने की उठ रही मांग

0
बीपीएससी 67वीं प्रीलिम्स : दिल्ली में परीक्षा केंद्र बनाने की उठ रही मांग

उम्मीद से ज्यादा आवेदन मिलने के बाद बीपीएससी के अधिकारी काफी हैरान और परेशान हैं। क्योंकि, 67वीं संयुक्त प्रतियोगी परीक्षा के लिए बिहार में इतनी बड़ी संख्या में परीक्षार्थियों के लिए पर्याप्त परीक्षा केंद्रों की व्यवस्था नहीं हो पा रही है। परीक्षा के दौरान पारदर्शिता बनाए रखने के लिए आयोग पहले सिर्फ शहरी केंद्रों में परीक्षा केंद्र बनाने को लेकर माथापच्ची कर रहा था। वहीं, अब अनुमंडल स्तर यानी सब डिवीजन या उपखंड स्तर तक परीक्षा केंद्र बनाए जाने की संभावना है। हालांकि, इस पर भी अभी अंतिम निर्णय नहीं हो पाया है।

सूत्रों के अनुसार, इस बार राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में परीक्षा केंद्र बनाए जाने की मांग भी लगातार उठ रही है। उम्मीदवार लंबे समय से ऐसी मांग करते रहे हैं। आयोग के कई अधिकारी और पदाधिकारी सदस्य भी इससे सहमत हैं। हालांकि, अभी आम सहमति नहीं बन पा रही है। इसलिए परीक्षा की नई तिथि भी संभावित रखी गई है। वहीं, आयोग के चेयरमैन भी अपने कार्यकाल के अंतिम चरण में ऐसी कोई रिस्क नहीं लेना चाहते हैं। बीपीएससी भर्ती के तहत उम्मीदवारों का चयन प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य लिखित परीक्षा और साक्षात्कार के आधार पर किया जाना है।

बिहार लोक सेवा आयोग ने आधिकारिक वेबसाइट पर अधिसूचना जारी कर बताया है कि बीपीएससी 67 वीं संयुक्त प्रतियोगी प्रारंभिक परीक्षा पूर्व निर्धारित 30 अप्रैल की जगह अब संभावित तौर पर सात मई, 2022 को आयोजित की जाएगी। परीक्षा के संदर्भ में विस्तृत कार्यक्रम जल्द आधिकारिक वेबसाइट bpsc.bih.nic.in पर उपलब्ध करवाया जाएगा।

परीक्षा केंद्रों की कमी ने उलझाया मामला

यह दूसरी बार है जब बीपीएससी की ओर से संयुक्त प्रतियोगी परीक्षा को स्थगित किया गया है। पहले बीपीएससी की 67वीं प्रारंभिक परीक्षा 23 जनवरी, 2022 को आयोजित की जानी थी, लेकिन सात दिसंबर, 2021 को आयोग ने इसे एक अधिसूचना के माध्यम से स्थगित कर दिया था। उम्मीदवार बीपीएससी की आधिकारिक वेबसाइट bpsc.bih.nic.in पर संशोधित परीक्षा तिथि की अधिसूचना देख सकते हैं। हालिया अधिसूचना के अनुसार, बीपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा 150 अंकों की होगी और परीक्षा की अवधि दो घंटे की रहेगी। जो उम्मीदवार परीक्षा के लिए अर्हता प्राप्त करेंगे, वे 67वीं संयुक्त प्रतियोगी मुख्य परीक्षा के लिए पात्र होंगे।

छह लाख से ज्यादा आवेदकों ने उड़ाए होश
राज्य की विभिन्न सेवाओं में रिक्त 802 पदों को भरने के लिए बीपीएससी की 67वीं संयुक्त प्रतियोगी परीक्षा के लिए आवेदन प्रक्रिया 30 सितंबर, 2021 से शुरू हुई थी। परीक्षा के लिए छह लाख से ज्यादा आवेदन आए थे। इतनी बड़ी संख्या में आवेदन मिलने से बीपीएससी अधिकारियों के होश उड़ गए थे। पहली बार किसी राज्य सेवा भर्ती परीक्षा के लिए इतने आवेदन मिले हैं।

Source link

viagra kullananlar