Home बिहार के अखबारों में बिहार के जर्दालु आम की ब्रिटेन में बढ़ी कद्र

बिहार के जर्दालु आम की ब्रिटेन में बढ़ी कद्र

0
बिहार के जर्दालु आम की ब्रिटेन में बढ़ी कद्र

अब बिहार का प्रसिद्ध जर्दालु आम ब्रिटेन में भारत का मान बढ़ाएगा। जर्दालु आम की पहली खेप शनिवार को लखनऊ से लंदन के लिए रवाना कर दी गई। आगामी दस जून को दशहरी आम की खेप निर्यात की जाएगी।

आम के निर्यात की शुरुआत शुक्रवार से हो गई है। बिहार के जरदालू आम की पहली खेप लंदन के लिए रवाना कर दी गई है। एक टन आम को लखनऊ के रहमान खेड़ा स्थित मैंगो पैक हाउस से दिल्ली के लिए भेज दिया गया है। यहां से उसे लंदन भेजा जाएगा।

मैंगों पैक हाउस में आम को किया गया बैक्टीरिया मुक्तः निर्यात का आर्डर मिलने के बाद प्रोसेसिंग के लिए एक टन जरदालू आम को मैंगो पैक हाउस लाया गया। यहां लगी वीएचटी वेपर हीट ट्रीटमेंट मशीनों से आम को बैक्टीरियामुक्त किया गया। ग्रेडिंग लाइन मशीनों से गुजरने के बाद उसकी पैकिंग कर लंदन के लिए रवाना कर दिया गया।

दशहरी की खेप दस को जाएगीः अभी दशहरी के आर्डर आ रहे हैं। दस जून को दशहरी की पहली खेप रवाना होने के आसार हैं। खाड़ी देशों को पहला आर्डर भेजा जाएगा। उसकी तैयारियां शुरू कर दी गई हैं।

मैंगों पैक हाउस से निर्यात की औपचारिक शुरुआत हो गई है। बिहार से आम आने के बाद उसे प्रोसेस किया गया और पैक कर लंदन के लिए एक टन जरदालू आम की प्रथम खेप को भेज दिया गया है। दशहरी के आर्डर आ रहे हैं। फलों के राजा की पहली खेप दस को जाएगी। दशहरी की मांग खाड़ी देशों में ज्यादा है। इसके लिए तैयारियां शुरू हो गई हैं। -संजय सिंह, सचिव मंडी 

सौ करोड़ की लागत से बनी अत्याधुनिक एसी मंडी कब होगी शुरूः करीब सौ करोड़ की लागत से मलिहाबाद में बनाई गई देश की अत्याधुनिक सेंट्रलाइज्ड एसी मंडी में अभी तक शिफ्टिंग का काम शुरू नहीं हो सका है। दावों के बाद भी अभी 78 में से मात्र 26 दुकानों का आवंटन हो सका है। व्यापारियों के दबाव में मंडी का स्थानांतरण फंसा हुआ है।

Source link

viagra kullananlar