बिहार की जलवायु (Climate of Bihar)

बिहार प्रदेश के भौगोलिक अध्ययन में जलवायु एक महत्वपूर्ण कारक है यह बिहार की प्राकृतिक वनस्पति जीव जंतु मिट्टी इत्यादि को प्रभावित करती है।

भारत के पूर्वी भाग में स्थित बिहार की जलवायु उष्ण आद्र् मानसूनी है। बिहार पश्चिम बंगाल की उष्ण आर्द्र और उत्तर प्रदेश की उपार्द्र जलवायु के बीच एक संक्रमण प्रदेश है। उत्तर पूर्व में पूर्णिया प्रमंडल की जलवायु पश्चिम बंगाल जैसी है जबकि पश्चिम में पटना और मगध प्रमंडलओं की जलवायु बहुत हद तक पूर्वी उत्तर प्रदेश से मिलती है।

अक्षांशीय विस्तार की दृष्टि से उपोष्ण कटिबंध में पड़ने के बावजूद भी यहां की जलवायु अपेक्षाकृत गर्म है। वर्ष के विभिन्न खंडों में पवनों का रितुवत् विपरीत दिशाओं में परिचालन, दीर्घ शुष्क काल एवं सामान्य वर्षा काल यहां की खास जलवायविक विशेषताएं हैं। बिहार की जलवायु की दशाओं में क्षेत्रीय भिन्नता पाई जाती हैं।

बिहार की जलवायु को प्रभावित करने वाले कारक हैं-
1.स्थिति
2.ऊंचाई
3.समुद्र से दूरी
4.वायुदाब
5.पवनें
6.मानसूनी प्रवाह

7.सामयिक चक्रवात
8.वानस्पतिक आवरण
9.स्थानीय तत्व

बिहार की ऋतुएं:-

  1. ग्रीष्म ऋतु- मार्च से मध्य जून तक
  2. वर्षा ऋतु – मध्य जून से अक्टूबर तक
  3. शीत ऋतु- नवंबर से फरवरी तक

Ananya Swaraj
Assistant Professor

हमारा टेलीग्राम चैनल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

भारतीय राजव्यवस्था (Indian Polity) | BPSC प्रारंभिक एवं मुख्य परीक्षा

इस लेख का उद्देश्य है कि परीक्षार्थियों को भारतीय राजव्यवस्था के सभी महत्वपूर्ण टॉपिक पढ़ा दिया जाए. अगर आप इस लेख को पूरा पढ़ लेते हैं तो आपको भारतीय राजव्यवस्था के तैयारी के लिए किसी भी अन्य किताब को पढ़ने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी. BPSC के परीक्षार्थियों...

बिहार समाचार (संध्या): 26 जनवरी 2021 AIR (Bihar News + Bihar Samachar + Bihar Current Affairs)

बिहार संध्या समाचार - 26 जनवरी 2021 - केवल गंभीर परीक्षार्थियों के लिये. ध्यान से सुनिये और नोट्स बना लें. न्यूज़ को 3 से 4 बार सुनिये. जो भी न्यूज़ आपको लगे कि exam में पूछ सकता है उसको दिनांकवार नोट कर लीजिये कॉपी पर . कॉपी में लिखा...

बिहार समाचार (संध्या): 24 जनवरी 2021 AIR (Bihar News + Bihar Samachar + Bihar Current Affairs)

बिहार संध्या समाचार - 24 जनवरी 2021 - केवल गंभीर परीक्षार्थियों के लिये. ध्यान से सुनिये और नोट्स बना लें. न्यूज़ को 3 से 4 बार सुनिये. जो भी न्यूज़ आपको लगे कि exam में पूछ सकता है उसको दिनांकवार नोट कर लीजिये कॉपी पर . कॉपी में लिखा...

[मिर्ची नोट्स] भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम, 1988 (Prevention of Corruption Act, 1988)

भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम, 1988 (Prevention of Corruption Act, 1988) भारतीय संसद द्वारा पारित केंद्रीय कानून है जो सरकारी तंत्र एवं सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों में भ्रष्टाचार को कम करने के उद्देश्य से बनाया गया है। इसके महत्वपूर्ण धाराएं निम्नलिखित हैं: धारा 1: इसका विस्तार...