Home वैकल्पिक विषय समाजशास्त्र ग्रामीण समाजशास्त्र का विषय क्षेत्र (Subject area of ​​Rural Sociology)

ग्रामीण समाजशास्त्र का विषय क्षेत्र (Subject area of ​​Rural Sociology)

लारी नेल्सन ने ग्रामीण समाजशास्त्र के विषय क्षेत्र के संबंध में लिखा है कि “यह केवल सामुदायिक जीवन के क्षेत्रों में और क्षेत्रों के समझे गए समतल रूप को चित्र वर्णन मात्र नहीं समझता बल्कि संबंध के अनगिनत रूपों को आकाशीय ढांचे में सन्निहित कर लेता है।

दूसरे शब्दों में हम यह कह सकते हैं कि यह उन समस्त क्रियाकलापों की व्याख्या करता है जो ग्रामीण व्यक्ति के सामूहिक जीवन को बनाते हैं। इस तरह या एक विस्तृत शास्त्र है उतना ही विस्तृत जितना कि सामूहिक जीवन के विभिन्न रूप विस्तृत है।”

नेल्सन ने ग्रामीण समाजशास्त्र के विषय क्षेत्र को त्रिआयामी (Three Dimensional) कहां है इनके अनुसार इसमें लंबाई, चौड़ाई और गहराई तीनों होती है। पहला, लंबाई या विस्तार इस प्रकार की यह शास्त्र ग्रामीण व्यक्तियों के सभी प्रकार के संबंधों का अध्ययन करता है यह सामूहिक जीवन का अध्ययन करता है इस अध्ययन का क्षेत्र इतना व्यापक है जितना कि सामूहिक जीवन के विभिन्न स्वरूप इसे नेल्सन ने विस्तार कहा है।

दूसरा गुण व्यापकता का है नेल्सन मानते हैं कि ग्रामीण शास्त्र भूतकाल, भविष्य काल और वर्तमान काल का अध्ययन करता है। उदाहरण के लिए यह संस्कृति के इतिहास, वर्तमान और भविष्य तीनों चित्रों को दर्शाता है। नेल्सन कहते हैं कि समाजशास्त्र के विद्यार्थी को अपने विषय सामग्री से संबंधित एक कालचित्र (Time Perspective) रखना चाहिए। नेल्सन इससे ग्रामीण समाजशास्त्र की व्यापकता कहते हैं।

तीसरा ग्रामीण समाजशास्त्र एक गहन शास्त्र है। यह शास्त्र व्यक्तियों के परिवर्तित होते हुए स्वरूप, अभिरुचियों और मूल्य आदि का अध्ययन करता है। इस प्रकार नेल्सन के अनुसार ग्रामीण शास्त्र का विषय क्षेत्र बहुत ही व्यापक और विशाल है।

अतः हम कह सकते हैं कि ग्रामीण समाजशास्त्र का क्षेत्र ग्रामीण सामाजिक संगठन, ग्रामीण सामाजिक संरचना, ग्रामीण सामाजिक संस्थाएं, ग्रामीण सामाजिक समूह, ग्रामीण सामाजिक प्रक्रियाएं, ग्रामीण सामाजिक परिवर्तन, ग्रामीण सामाजिक समस्याओं आदि का अध्ययन करना है।

Ananya Swaraj,
Assistant Professor, Sociology

हमारा टेलीग्राम चैनल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

[सिलेबस] अर्थशास्त्र (वैकल्पिक विषय)

बिहार लोक सेवा आयोग मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम - अर्थशास्त्र (वैकल्पिक विषय) खण्ड- I (Section - I) अर्थव्यवस्था का ढांचा, राष्ट्रीय आय का लेखीकरण।आर्थिक विकल्प- उपभोक्ता व्यवहार- उत्पादक व्यवहार और बाजार के रूप।निवेश सम्बन्धी निर्णय तथा आय और रोजगार का निर्धारण-आय,...

बिहार समाचार (संध्या): 07 फरवरी 2021 AIR (Bihar News + Bihar Samachar + Bihar Current Affairs)

बिहार संध्या समाचार - 07 फरवरी 2021 - केवल गंभीर परीक्षार्थियों के लिये. ध्यान से सुनिये और नोट्स बना लें. न्यूज़ को 3 से 4 बार सुनिये. जो भी न्यूज़ आपको लगे कि exam में पूछ सकता है उसको दिनांकवार नोट कर लीजिये कॉपी पर . कॉपी में लिखा...

ऐसे डाउनलोड करें BPSC APO प्री एग्जाम का एडमिट कार्ड, परीक्षा 7 फरवरी को

Bihar BPSC APO Prelims Exam Admit Card 2021: बिहार लोक सेवा आयोग (BPSC) ने सहायक अभियोजन अधिकारी (Assistant Prosecution Officer या APO) परीक्षा के लिए एडमिट कार्ड जारी कर दिया है। जिन उम्मीदवारों ने BPSC APO परीक्षा 2020 के लिए आवेदन किया है, वे आधिकारिक वेबसाइट पर लॉग-इन के...

बिहार समाचार (संध्या): 21 जनवरी 2021 AIR (Bihar News + Bihar Samachar + Bihar Current Affairs)

बिहार संध्या समाचार - 21 जनवरी 2021 - केवल गंभीर परीक्षार्थियों के लिये. ध्यान से सुनिये और नोट्स बना लें. न्यूज़ को 3 से 4 बार सुनिये. जो भी न्यूज़ आपको लगे कि exam में पूछ सकता है उसको दिनांकवार नोट कर लीजिये कॉपी पर . कॉपी में लिखा...