Home बिहार पुलिस ट्रेनिंग भारतीय दण्ड संहिता, 1860 - अध्याय 1 (प्रारंभिक) - सभी महत्वपूर्ण वर्णनात्मक...

भारतीय दण्ड संहिता, 1860 – अध्याय 1 (प्रारंभिक) – सभी महत्वपूर्ण वर्णनात्मक प्रश्नोत्तर

  1. अपराध क्या है? अपराध के आवश्यक तत्वों का वर्णन करते हुए इसकी प्रकृति समझाइए।
  2. अपराध एक स्थायी गुण नहीं है न ही इसको निरपेक्ष परिभाषिक अभिव्यक्ति के रूप में समझा जा सकता है। वास्तव में ऐसी कोई चीज नहीं है जो अपने आप में अपराध हो। कथन की व्याख्या कीजिए।
  3. प्रत्येक अपराध के लिए “दुराशय” एक आवश्यक तत्व है। इस कथन की व्याख्या कीजिए। भारतीय दंड संहिता के संदर्भ में यह कथन कहां तक लागू है?
  4. “बिना अपराध भावना के किया गया कार्य अपराध नहीं होता है” – इस कथन की विवेचना कीजिए।
  5. “कठोर दायित्व” क्या है? क्या सामाजिक आर्थिक अपराधों में “दुराशय” आवश्यक है? उदाहरण सहित समझाइए।
  6. किसी भी कृत्य के उन विभिन्न चरणों को बताइए जिनके पूर्ण होने पर एक अपराध पूर्ण होता है। उन अवस्थाओं को समझाइए जिसमें  दंडनीय हो सकता है।
  7. अपराध करने की कौन-कौन सी अवस्थाएं हैं? तैयारी व प्रयत्न कब दंडनीय होता है तथा तैयारी और प्रयत्न में अंतर समझाइए। 
  8. किसी भी कृत्य के उन विभिन्न चरणों को बताइए जिनके पूर्ण होने पर एक अपराध पूर्ण होता है। 
  9. अपराध तथा दुष्कृति में क्या अंतर है? क्या प्रत्येक दुष्कृति का कार्य अपराध होता है?
  10. प्रतिनिहित दायित्व से आप क्या समझते हैं?
  11. “कोई स्वामी अपने सेवक के उन कार्यों के लिए उत्तरदायी नहीं है जिनका उसे अधिकार नहीं दिया गया है। वही व्यक्ति अपराध के लिए दंडित किए जाने योग्य है जो स्वयं कार्य करता है या ऐसा करने की आज्ञा देता है।” उक्त कथन की अपवादों सहित व्याख्या कीजिए।
  12. दंड प्रक्रिया संहिता (संशोधन) अधिनियम, 2005 द्वारा भारतीय दंड संहिता में कौन-कौन सी नई धाराएं अन्तःस्थापित की गई है?
  13. अपराध विधि (संशोधन) अधिनियम, 2005 द्वारा भारतीय दंड संहिता में कौन सी नई धारा जोड़ी गई है और उसमें क्या प्रावधान किया गया है?
  14. भारतीय दंड संहिता के क्षेत्रातीत प्रवर्तन से संबंधित प्रावधानों का वर्णन कीजिए। क्षेत्रातीत प्रवर्तन और प्रत्यर्पण में क्या अंतर है? 
  15. निम्नलिखित का कारण सहित निर्णय कीजिए –
    • एक भारतीय इंग्लैंड में जारकर्म करता है जो वहां अपराध नहीं है। क्या वह  दंड संहिता की धारा 497 के अंतर्गत दंडित किया जा सकता है?
    • एक विदेशी एक जहाज में खुले समुद्र में एक स्त्री के साथ जारकर्म करता है। जब वह मुंबई में उतरता है तो उस पर मुकदमा चलाया जाता है। क्या भारतीय न्यायालय उसे जारकर्म के लिए उत्तरदायी ठहरा सकता है?
  16. What is crime?  Discuss the nature of crime including its features.
  17. Crime is not a permanent quality nor can it be understood as an absolute defining expression. In-fact, there is nothing really a crime in itself. Discuss this statement.
  18. “Mens rea” is an essential element of the crime. Explain the above statement. To what extent it is applicable to the IPC?
  19. “Actus non facit reum nisi mens sit rea” – Describe this statement.
  20. What is “strict liability”? Is “Mens rea” really necessary in socio-economic offences? Illustrate with examples.
  21. Describe the various stages of an act leading to complete an offence. Explain the stages at which it becomes punishable.
  22. What are the stages of committing offence? When preparation and Attempts are punishable and point out the difference between attempt and preparations.
  23. Describe the various stages of an act leading to a complete offence.
  24. What is the difference between crime and tort? Is every tortuous act a crime?
  25. What do you understand by vicarious liability?
  26. “Master is not criminally responsible for the unauthorized acts of his servants. He alone is criminally punishable who immediately does the act or permits it to do.” – Explain this statement along with its exceptions, if any.
  27. State the provisions of IPC dealing with its extra-territorial operation. What is the difference between extra-territorial operation and extradition?
  28. Decide the following with reasons –
    •  An Indian commits adultery in England which is not an offence there. He returns to India.  Can he be punished under section 497 IPC?
    • A foreigner commits adultery on a ship in the open Sea. A case is filed against him in an Indian Court while he lands at Bombay. Can the Indian Court try him for adultery?
हमारा टेलीग्राम चैनल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

[सिलेबस] कृषि (वैकल्पिक विषय)

बिहार लोक सेवा आयोग मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम - कृषि (वैकल्पिक विषय) खण्ड- I (Section - I) परिस्थिति विज्ञान और मानव के लिये उसकी प्रासंगिकता, प्राकृतिक संसाधन, उनका प्रबंधन तथा संरक्षण। फसलों के उत्पादन और वितरण के कारक-तत्व, भौतिक और सामाजिक...

बिहार समाचार (संध्या): 06 अप्रैल 2021 AIR (Bihar News + Bihar Samachar + Bihar Current Affairs)

बिहार संध्या समाचार - 06 अप्रैल 2021 - केवल गंभीर परीक्षार्थियों के लिये. ध्यान से सुनिये और नोट्स बना लें. न्यूज़ को 3 से 4 बार सुनिये. जो भी न्यूज़ आपको लगे कि exam में पूछ सकता है उसको दिनांकवार नोट कर लीजिये कॉपी पर . कॉपी में लिखा...

[सिलेबस] विधि (वैकल्पिक विषय)

बिहार लोक सेवा आयोग मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम - विधि (वैकल्पिक विषय) खण्ड- I (Section - I) भाग- 1 : भारत की संवैधानिक विधि (Section - 1 : Constitutional Law of India) 1. भारतीय-संविधान की प्रकृति। इसके परिसंघीय...

बिहार समाचार (संध्या): 22 जनवरी 2021 AIR (Bihar News + Bihar Samachar + Bihar Current Affairs)

बिहार संध्या समाचार - 22 जनवरी 2021 - केवल गंभीर परीक्षार्थियों के लिये. ध्यान से सुनिये और नोट्स बना लें. न्यूज़ को 3 से 4 बार सुनिये. जो भी न्यूज़ आपको लगे कि exam में पूछ सकता है उसको दिनांकवार नोट कर लीजिये कॉपी पर . कॉपी में लिखा...